गुटखा खाने वालों को हो रहा है गले का कैंसर_ Gutkha eaters are getting throat cancer_health tips_health tips in hindi - gaon ki duniya

Latest

Online Money, business Idea, the village of india, motivational Story, Health Tips in hindi, and tech news in hindi

Recent Posts

BANNER 728X90

Monday, October 14, 2019

गुटखा खाने वालों को हो रहा है गले का कैंसर_ Gutkha eaters are getting throat cancer_health tips_health tips in hindi


गुटखा एवं तंबाकू से होने वाले मुंह के कैंसर Gutkha eaters are getting throat cancer 

 गुटखा खाने वालों को हो रहा है गले का कैंसर_ Gutkha eaters are getting throat cancer_health tips_health tips in hindi
Health_tips_hindi

आज के दौर में गुटखा एवं तंबाकू खाने का चलन बहुत बढ़ गया है प्रायः यह देखा गया है कि गांव में छोटे-छोटे बच्चे एवं बुजुर्ग सभी लोग इसके आदी हो गए हैं

इससे होने वाले खतरों से वह अभी अनजान हैं किंतु जो व्यक्ति  इन समस्याओं को झेल लेता है वह अपने जीवन में दोबारा तंबाकू जैसी चीजों का सेवन नहीं करता


इसलिए आज के इस विषय में  गुटखा एवं तंबाकू से होने वाले मुंह के कैंसर के बारे में आप जानेगे 
 गुटखा खाने वालों को हो रहा है गले का कैंसर_ Gutkha eaters are getting throat cancer_health tips_health tips in hindi

Health_tips_hindi

मौखिक कैंसर का तात्पर्य मुंह के पीछे गले का ऊपरी हिस्सा में ट्यूमर होना।  समानता मौखिक कैंसर गले के निचले हिस्से में गाल व जीभ में होता है 


अन्य स्थानों में यह लार ग्रंथि मसूड़ों व मुंह का उपरी शक्ति हिस्सा तालुका गालों के अंदर के मुलायम हिस्से में हो सकता है

आपको निम्नलिखित लक्षण हो तो तुरंत विशेषज्ञ चिकित्सक से संपर्क करें 


लक्षण 
 गुटखा खाने वालों को हो रहा है गले का कैंसर_ Gutkha eaters are getting throat cancer_health tips_health tips in hindi

Health_tips_hindi


मुह वा गले के अंदर घाव या सूजन का होना कुछ हफ्तों में ठीक ना होना मौखिक कैंसर का सबसे प्रमुख लक्षण हैं

अक्सर यह दर्द रहित होते हैं पर किसी किसी में दर्द भी हो सकता है यदि गांठ या घाव जीभ पर हो तो बोली में लड़खड़ा हट हो सकती है

मुंह के अन्य भागों में होने पर खाना चबाने या निगलने में कठिनाई हो सकती है मुंह के रंग में बदलाव आना खासतौर से लाल भूरे किया काले धब्बे का होना या फिर मुंह में सूजन व सफेद दाग धब्बों का होना

या सिर्फ सफेद खुर्दरे दाग का होना लगातार मुंह से खून बहना किया ऐसा घाव  का होना जो 10 दिनों में ठीक ना हो जिसमें चारो तरफ जलन या चेतना सुन्न होना

या मुँह में कहीं भी दर्द होना निगलने या बोलने में तकलीफ होना गर्दन में लिम्स ग्रंथियों में सूजन होना दरअसल यही वह सर्वप्रथम स्थान होता है जहां कैंसर फैलता है  लिंफा ग्रंथियों के सूजने का कारण कोई अन्य संक्रमण भी हो सकता है

मौखिक कैंसर होने के कारण 
 गुटखा खाने वालों को हो रहा है गले का कैंसर_ Gutkha eaters are getting throat cancer_health tips_health tips in hindi

Health_tips_hindi



मुख्य रूप से  मुंह में गले का कैंसर आदमियों व बड़े लोगों में पाया जाता है शराब व सिगरेट पीने वालों गुटखा खाने वालों में यह कैंसर सबसे अधिक पाया जाता है

कत्था चूना गुटखा और पान मसाला में पाया जाते जाने वाले खराब रसायन मुंह के नरम स्थानों को जला देते हैं जो बाद में मुंह व गले के कैंसर के रूप में परिवर्तित हो जाते हैं

इसकी शुरुआत एक सफेद धब्बे से होती है जिसे आप महसूस भी नहीं कर पाते धीरे-धीरे इन्हीं धब्बों में पस पड़ जाता है एक इंची भी मुंह खोलने में तकलीफ होती है यहां तक कि मुंह में दो उंगलियों के जाने की भी जगह नहीं होती

मुंह का कैंसर
 गुटखा खाने वालों को हो रहा है गले का कैंसर_ Gutkha eaters are getting throat cancer_health tips_health tips in hindi

Health_tips_hindi

मसूड़ों,  नकली दांत व उनके लगाने के प्रयोग में लाया गया ब्रिज को गलत लगाने से भी होता है दांतों एवं मसूढ़ों की सही देखभाल न करने से दांत एवं मुंह में लगे तार से होने वाले घाव से भी खतरा बढ़ जाता है

पाइप पीना होठों में और जीप का कैंसर होने में सहयोग देता है क्योंकि इसकी गर्म भाप इन भागों पर ज्यादा होता है

कैंसर से बचाव 


आप अपनी जिंदगी के रहन-सहन में बदलाव लाकर कर इससे अपने आप को बचा सकते हैं

सबसे प्रमुख बचाओ है 


१ तंबाकू या गुटखा का किसी भी रूप में सेवन न करना 
२ मौखिक सफाई तार या दांतो से मुंह में बार-बार घाव होने को रोकना लगातार गले की जांच पड़ताल दांतो की सही देखभाल
३ पौष्टिक खानपान जो विटामिन युक्त हो


 इन सब चीजों से आप अपने मुंह को और शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं





No comments:

Post a Comment